March 5, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

Coconut | गर्भावस्था के दौरान कच्चा नारियल खाने को क्यों कहा जाता है? आइये जानते हैं इसके फायदे.

Coconut

Coconut

गर्भावस्था के दौरान अक्सर कच्चा नारियल (Coconut) खाने की सलाह दी जाती है। इसके कई फायदे हैं. आइए यहां जानें…

Pregnancy Tips: गर्भावस्था किसी भी महिला के लिए एक संवेदनशील समय होता है जब उसे अपनी और बच्चे की सेहत का खास ख्याल रखना होता है। ऐसे में डाइट में कुछ ऐसी चीजें शामिल की जाती हैं जो मां और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होती हैं। इन्हीं में से एक है कच्चा नारियल, जिसे गर्भावस्था के दौरान खाने की सलाह दी जाती है। ऐसे में कच्चा नारियल खाना बहुत फायदेमंद होता है। यह विटामिन, खनिज, फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर है। आइए जानते हैं कच्चा नारियल खाने के फायदे…

कब्ज की समस्या से राहत | Relief from constipation problem
कच्चे नारियल में प्रचुर मात्रा में फाइबर होता है जो गर्भवती महिलाओं को कब्ज और पेट संबंधी अन्य समस्याओं से राहत दिलाता है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के लिए कब्ज एक आम समस्या है क्योंकि हार्मोनल बदलाव और बढ़ते पेट के कारण पाचन क्रिया धीमी हो जाती है। कच्चे नारियल में मौजूद फाइबर पेट की गतिविधि को बनाए रखने और नियमित और आसान मल त्याग सुनिश्चित करने में मदद करता है।

शरीर में रक्त प्रवाह बेहतर होता है | Blood flow in the body improves
नारियल में भरपूर मात्रा में आयरन होता है जो हीमोग्लोबिन के उत्पादन में मदद करता है। हीमोग्लोबिन एक प्रोटीन है जो आपके शरीर की कोशिकाओं तक ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है। इसलिए कच्चा नारियल खाने से शरीर में रक्त संचार बेहतर होता है और हर कोशिका तक पोषक तत्व और ऑक्सीजन पहुंचता है। रोजाना कच्चा नारियल खाने से कई फायदे मिलते हैं।

खून की कमी को दूर करता है | removes anemia
गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कई तरह की कमियां होने लगती हैं। एनीमिया यानी खून की कमी एक आम समस्या है। इस समय आयरन, फोलिक एसिड और विटामिन बी12, सी आदि की अधिक जरूरत होती है। कच्चे नारियल में ये सभी पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में होते हैं। इसलिए गर्भावस्था के दौरान कच्चा नारियल खाने से एनीमिया जैसी समस्याओं से बचा जा सकता है।

स्ट्रेच मार्क्स के लिए फायदेमंद | Beneficial for stretch marks
गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल बदलाव के कारण कई महिलाओं को त्वचा संबंधी समस्याएं जैसे मुंहासे, चकत्ते, झुर्रियां आदि हो जाती हैं। कच्चे नारियल के सेवन से इनसे राहत पाई जा सकती है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन ई भरपूर मात्रा में होता है जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान कच्चा नारियल खाना फायदेमंद होता है।

Disclaimer: इस लेख में बताए गए तरीके, तरीकों और सुझावों को लागू करने से पहले कृपया डॉक्टर या संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें।

गर्भावस्था में कच्चा नारियल खाने से क्या होता है?
गर्भावस्था के दौरान नारियल पानी (Coconut Water During Pregnancy) मां और बच्चे दोनों के लिए अच्छा होता है. इसमें मध्यम मात्रा में शुगर, प्रोटीन और सोडियम होता है, जिससे शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स का लेवल बना रहता है. प्रेग्नेंसी एक ऐसा समय है जब एक महिला को सभी जरूरी पोषक तत्वों की बहुत ज्यादा जरूरत होती

प्रेगनेंसी में कच्चा नारियल कब खाना चाहिए?
गर्भवती महिलाओं को प्रेग्नेंसी की पहली तिमाही में मॉर्निंग सिकनेस और थकान की शिकायत ज्‍यादा रहती है इसलिए इस दौरान नारियल पानी का सेवन करना सबसे ज्‍यादा फायदेमंद रहता है। इस तिमाही में ही भ्रूण के दिमाग का विकास हो रहा होता है इसलिए उसे इस दौरान पोषक तत्‍वों की सबसे अधिक जरूरत होती है।

कच्चे नारियल खाने से क्या होता है?

  • कच्चा नारियल खाने के फायदे | Benefits Of Eating Raw Coconut
  • घट सकता है वजन
  • बाल और स्किन के लिए अच्छा
  • कब्ज होती है दूर
  • बढ़ती है इम्यूनिटी

गर्भ में बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए क्या खाएं?
गर्भावस्था के दौरान भ्रूण का वजन बढ़ाने के लिए गर्भवती को दाल का सेवन करना चाहिए। दाल, प्रोटीन का एक बेहतरीन स्‍त्रोत है। इतना ही नहीं इसमें फोलेट, मैंगनीज, फास्फोरस, आयरन और थायमिन जैसे जरूरी पोषक तत्व मौजूद हैं। दाल की दो सर्विंग लेने से भ्रूण का वजन बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

Web Title: coconut | Why is it advised to eat raw coconut during pregnancy? Let us know its benefits.

हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें NEWSZON पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट न्यूज़ ज़ोन पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, 2023 लोकसभा से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: News in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *