March 5, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

क्या है बीएसपी का प्लान? मीडिया से बात करते हुए मुनकाद अली ने बताई ये रणनीति, ऐसे बदल जाएगा यूपी में चुनावी समीकरण.

Munkad Ali

Munkad Ali

लोकसभा चुनाव 2024: लोकसभा चुनाव के लिए बसपा ने बनाई ये रणनीति. इस बीच सोमवार को एक मीडिया हाउस ने मुनकाद अली से खास बातचीत की। बातचीत के दौरान मुनकाद अली ने अपनी भविष्य की योजनाओं का खुलासा किया.

प्रदेश में दिन-ब-दिन बदलते सियासी समीकरणों के बीच सियासी जगत की निगाहें अब बहुजन समाज पार्टी के रुख पर टिकी हैं. इस बीच बसपा के राष्ट्रीय महासचिव और पूर्व सांसद बाबू मुनकाद अली ने किसी भी गठबंधन से साफ इनकार कर दिया.

उनका मानना है कि गठबंधन से हमेशा बसपा को नुकसान हुआ है. उत्तर प्रदेश में दलित, मुस्लिम और ओबीसी समीकरण के दम पर बसपा इतिहास दोहरायेगी. खासकर मेरठ, सहारनपुर और मुरादाबाद मंडल की हर सीट पर बसपा परचम लहराने की स्थिति में है।

सोमवार को फूलबाग कॉलोनी स्थित बसपा जिला कार्यालय पर संगठन की समीक्षा के बाद मुनकाद अली ने मीडिया से बातचीत की। उन्होंने बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि भले ही कुछ पार्टियां अपने चुनाव कार्यालय खोलकर हंगामा कर रही हैं, लेकिन बीएसपी ने अपने कैडर कैंप के जरिए शांतिपूर्ण तरीके से अपनी चुनावी रणनीति तैयार की है.

राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि इंडिया गठबंधन का किला पहले दिन से ही दरक रहा है. बसपा प्रमुख मायावती ने साफ कहा है कि बसपा इंडिया गठबंधन में शामिल नहीं होगी. कहा कि बसपा पहले भी सपा, रालोद और कांग्रेस के साथ गठबंधन की कोशिश कर चुकी है, जिसका फायदा बसपा को कभी नहीं मिला। बसपा की किसी भी पार्टी की विचारधारा मेल नहीं खाती।

निकाय चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी के प्रति मुसलमानों के झुकाव पर उन्होंने कहा कि यह स्थानीय चुनाव है. कुछ लोगों ने मुसलमानों को गुमराह किया. अब मुसलमान किसी के बहकावे में आने वाला नहीं है। दलित, मुस्लिम और वंचितों का अपमान किया जा रहा है. लोकसभा चुनाव में सभी एकजुट होकर अपने अपमान का बदला लेंगे।

इस मौके पर मंडल प्रभारी शाहजहां सैफी, मोहित जाटव, कमल सिंह, कुलदीप, जिलाध्यक्ष जयपाल सिंह पाल, महावीर प्रधान, मुरारीलाल कैन, शहर विधानसभा अध्यक्ष परवेज आलम उर्फ गोलू, महासचिव संजय सैनी, भोपाल चांदना, ओमपाल खादर, पप्पू जाटव, खालिद, कुँवरपाल आदि प्रमुख थे।

बंद कमरे में पढ़ाया गया जीत का पाठ!
समीक्षा के बाद मुनकाद अली ने संगठन के जिम्मेदार पदाधिकारियों के साथ बंद कमरे में बैठक की. पार्टी आलाकमान के निर्देशों पर चर्चा की गयी. हर लोकसभा सीट पर मजबूत उम्मीदवार ढूंढने के निर्देश दिए गए. कहा कि ओबीसी को संगठन में शामिल करने का काम प्राथमिकता से किया जाना चाहिए। पिछले लोकसभा चुनाव में बसपा को मिले वोटों पर भी चर्चा हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *