Sawan 2022: सावन का प्रदोष और चतुर्दशी व्रत होता है विशेष फलदायी, जानें किस दिन है यह व्रत

image credit : social media

सावन का महीना भगवान शिव की पूजा के लिए विशेष फलदायी है। ऐसा कहा जाता है कि

image credit : social media

इस महीने भगवान शिव सभी की मनोकामना पूर्ण करते हैं। इस महीनें में कावंड यात्रा भी की जाती है। 

image credit : social media

सावन महीने में शिव की पूजा विशेष फल देती है। इस महीने में भोले शंकर का रुद्राभिषेक कराया जाता है। 

image credit : social media

न हो सके तो इस महीने में रोज भगवान शिव के मंदिर जाकर भोले शंकर को जल और दूध अर्पित करते हैं। 

image credit : social media

शिवपुराण के मुताबिक सावन के प्रदोष व्रत और चतुर्दशी व्रत बहुत ही उत्तम फलदायी होते हैं।

image credit : social media

इस साल सावन में प्रदोष व्रत 25 जुलाई को है।  इसके बाद चतुर्दशी तिथि 26 जुलाई को है।

image credit : social media

चतुर्दशी तिथि होने से इस दिन कांवड भगवान शिव पर जलाभिषेक करेंगे।

image credit : social media

इस दिन बहुत अधिक महत्व है। इस दिन की गई पूजा विशेष फलदायी होती है।  

image credit : social media

26 जुलाई को पूरे दिन भोलेशंकर का अभिषेक करना चाहिए।

image credit : social media

सावन का महीना भगवान शिव की पूजा के लिए विशेष फलदायी है। 

image credit : social media

ऐसा कहा जाता है कि इस महीने भगवान शिव सभी की मनोकामना पूर्ण करते हैं। 

image credit : social media

इस महीनें में कावंड यात्रा भी की जाती है।

image credit : social media

इस तरह की और वेब स्टोरी के लिए क्लिक करे