March 1, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

Sardhana News : सांड के हमले में घायल महिला की अस्पताल में मौत, 4 बच्चों के सिर से उठ गया मां का साया, पढ़े पूरी खबर

Sardhana News। मेरठ जिले के रोहटा ब्लाक के मीरपुर-रासना मार्ग पर स्थित खेत के पास घेर में रविवार शाम गोवंश को बचाने के चक्कर में महिला पर सांड ने हमला कर दिया। सींग महिला के कमर में मार दिए। जिसमें महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। महिला की रीढ़ की हड्डी टूट गई। परिजन घायल महिला को मेरठ के निजी अस्पताल में ले गए। जहां सोमवार सुबह उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई।

घेर से घास लेने पहुंची थी महिला

मीरपुर निवासी 40 वर्ष गीता मीरपुर-रासना मार्ग स्तिथ खेत पर गई थी। जब वहां से वह पास में ही स्थित घेर में घास लेकर पहुंची। सांड गोवंश पर हमला करने की फिराक में था। उसी दौरान गीता लकड़ी उठाकर सांड को मारने दौड़ पड़ी । इसी दौरान सांड ने महिला पर हमला कर दिया और सींग उसकी कमर में तेजी से मार दिए। जिससे महिला की रीढ़ की हड्डी टूट गई।

महिला की चीख पुकार और शोर-शराबा होने पर आसपास के ग्रामीण व महिला के परिजन घायल महिला को लेकर आनन-फानन में दिल्ली रोहटा बाइपास स्थित अस्पताल में पहुंचे। लेकिन साेमवार सुबह गीता ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। इसके बाद परिजन शव को लेकर गांव में पहुंचे। वहीं, सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई और पूछताछ कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

अहम् बात: आसपास के ग्रामीणों ने मीडिया को बताया कि घेर में कई गोवंश बंधे हुए हैं। जहां पर दरवाजा भी नहीं है। अगर वहां दरवाजा होता तो सांड भी अंदर नहीं आता और गीता की जान नहीं जाती।

चार बच्चों के सिर से उठ गया मां का साया

गीता के चार बच्चे हैं। मृतका के पति नीटू ने बताया कि 19 वर्ष का अर्जुन, 15 वर्ष का भीम, 12 वर्ष की आशी व दो वर्ष का मासूम देव हैं। ग्रामीणों ने बताया कि अगर अधिकारी बेसहारा घूम रहे पशुओं को पकड़ने का अभियान चलाए तो इस तरह की कोई दर्दनाक घटना ही ना हो।

नहीं थम रहे आशी के आंसू

जब गीता का शव गांव पहुंचा तो आशी फफक कर रो पड़ी। इस दौरान आसपास के भी ग्रामीण भी पहुंच गए और समझाने लगे। लेकिन, मासूम आशी के आंसू नहीं थमे। बताया कि यह वर्ष परिवार की खुशियां छिनने आया है।

ग्रामीण सहंसरपाल सहित अन्यों ने बताया कि मीडिया दुवारा बेसहारा पशुओं को लेकर आए दिन स्थिति बताई जा रही है। इसके बाद भी अधिकारी खानापूर्ति कर रहे हैं। बेसहारा पशुओं को नहीं पकड़ा जा रहा है। गांव में गणमान्यों के साथ बैठक करके सीडीओ से शिकायत की जाएगी। आखिर, यह अभियान कब शुरू होगा। ग्राम प्रधान पुत्र कपिल मीरपुर ने बताया कि बीते दिनों सीडीओ से बात की थी। फिलहाल, ब्लाक स्तर पर अधिकारियों से बात की जा रही है।

Follow Us On Google NewsClick Here
 Facebook PageClick Here
 Youtube ChannelClick Here
 TwitterClick Here
 Website Click Here
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें।
  • Web Title: Sardhana News: Woman injured in bull attack dies in hospital, mother’s shadow rises from the head of four children, read full news

Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *