March 2, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

Meerut : बदमाशों से भिडने वाली बहादुर बिटिया को SSP ने किया सम्मानित, जानिए पूरा मामला…

Women Empowerment : मेरठ में एक लड़की अकेले ही बड़ी बहादुरी से दो बदमाशों से भिड़ गई, जानिए रिया का सपना….. बदमाशों से भिड़ने वाली मेरठ की बहादुर बेटी रिया को एसएसपी रोहित सिंह साजवान ने सोमवार को सम्मानित किया। बता दें कि लालकुर्ती क्षेत्र में वृद्धा के कुंडल लूट कर भाग रहे दो बदमाशों से रिया भिड़ गई थी तथा उसने बदमाशों का डटकर मुकाबला किया। इसी के चलते एसएसपी ने बहादुर रिया का सम्मान किया।

मेरठ : जनपद मेरठ में बीते 10 दिसंबर की शाम थाना लालकुर्ती इलाके में बाइक सवार दो बदमाश बुजुर्ग महिला का कुंडल छीनकर भागने लगे. उसी समय महिला की पौत्री रिया ने अकेले ही बड़ी बहादुरी से दोनों बदमाशों से भिड़ गई. उसने मोटर साइकिल समेत उनको गिरा दिया, लेकिन दोनों बदमाश मौके से भाग निकले. इसके बाद मेरठ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मात्र 6 घण्टे में दोनों बदमाशों को मुठभेड के दौरान गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने लूटे गए कुण्डल को बरामद कर लिया. वहीं, सोमवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मेरठ ने बहादुर बच्ची को सम्मानित किया है.

जानिए बच्ची क्यों आई थी मेरठ

रिया को एसएसपी ने बुके और मोमेंटो दिया. उन्होंने उसका एकेडिमिक बैकग्राउंड पूछा. तब रिया ने बताया उसने मोदीनगर के एक कॉलेज से बीए किया है. वहीं, एसएसपी ने बहादुर बिटिया को आगे खूब पढ़ने करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित किया. उन्होंने कहा कि कभी डरना नहीं, ऐसे ही आगे बढ़ती रहो. आप पूरे समाज के लिए प्रेरणा हैं. इस दौरान रिया ने बताया कि उनके रिश्तेदार मेरठ में रहते हैं, उनसे मिलने वह अम्मा के साथ आईं थी.

सामाजिक कार्यकर्ताओं ने भी बहादुर बिटिया को किया सम्मानित

वहीं, सामाजिक कार्यकर्त्ता वैश्य शिरोमणि विनीत अग्रवाल शारदा ने भी बहादुर बिटिया को सम्मानित किया. उन्होंने कहा कि बेटी को सम्मान करके वह खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. दरअसल, वैश्य नेता ने रिया के घर पहुंचकर फूल देकर बहादुर बेटी का सम्मान किया. वहीं, रिया का सम्मान समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भी किया.

पिता का हो चुका है निधन

आपको बता दें कि रिया के पिता का निधन हो चुका है. कुछ साल पहले उसके दादाजी का भी निधन हो चुका है. रिया की बुआ ने बताया कि घर की जिम्मेदारी स्वयं उठा रही है. परिवार में रिया की अम्मा, मम्मी और सिर्फ ये दोनों बहने हैं. रिया की छोटी बहन भी बहुत बहादुर है. जानकारी के मुताबिक रिया के पिता विनय की बारह साल पहले मौत हो चुकी है. इसके बाद रिया दादा के साथ सेंटरिंग का काम करने लगी, लेकिन 8 महीने पहले रिया के दादाजी भी चल बसे. रिया अब सिविल सर्विसेज की तैयारी करना चाहती हैं.

Follow Us On Google NewsClick Here
 Facebook PageClick Here
 Youtube ChannelClick Here
 TwitterClick Here
 Website Click Here
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें।
  • Web Title: Meerut: SSP honored the brave daughter who fought with the miscreants, know the whole matter…

Thanks!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *