March 1, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

Maritime lawyer Salary in India | भारत में समुद्री वकील का वेतन कितना है?

Maritime lawyer Salary in India | भारत में समुद्री वकील का वेतन कितना है?

Maritime lawyer Salary in India | भारत में समुद्री वकील का वेतन कितना है?: समुद्री कानून पाठ्यक्रम को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय समुद्री कानून में कानून स्नातकों और वकीलों को शिक्षित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है जो उन्हें शिपिंग उद्योग में योगदान करने की अनुमति देता है। एक अति विशिष्ट पाठ्यक्रम होने के कारण यह समुद्री और महासागर कानूनों के परिष्कृत नए क्षेत्रों में काम करता है। यह पाठ्यक्रम अत्यधिक सेवा-उन्मुख है।

समुद्री कानून का प्राथमिक उद्देश्य कानूनी पेशेवरों का उत्पादन करना है जो न्यायिक दृष्टिकोण से भारत के जल निकायों और बंदरगाहों से संबंधित कानूनों और कानूनी प्रणालियों का विश्लेषण और मूल्यांकन कर सकते हैं। यह समुद्री कानून, न्यायशास्त्र, और अंतरराष्ट्रीय जल विवादों से जुड़े अन्य उभरते कानूनों के क्षेत्रों में विशेषज्ञता को भी बढ़ावा देता है। पाठ्यक्रम के सफल समापन पर, एक कानून पेशेवर समुद्री अनुबंधों से संबंधित अपने प्रारूपण कौशल को बढ़ाएगा। पाठ्यक्रम सुनिश्चित करता है कि इसके प्रतिभागी मत्स्य पालन और समुद्री क्षेत्रों में उत्पन्न होने वाले कानूनी मुद्दों को संबोधित करने में सक्षम कानूनी विशेषज्ञ बनें।

Job/Career ProfilesAverage Salary/Year
Legal Advisor (Maritime Law)Rs 1.8 – 4 Lakhs
Legal CounselRs 3.6 – 4 Lakhs
Maritime Law AdvocateRs 3 – 4 Lakhs
Legal Assistant ManagerRs 3.5 – 6 Lakhs

शीर्ष कॉलेज
विभिन्न निजी और सरकारी कॉलेज समुद्री कानून पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं। मार्केट जॉब में भी इस कोर्स की मांग बढ़ रही है। इस क्षेत्र में करियर बनाने वाले उम्मीदवार इन कॉलेजों या विश्वविद्यालयों में आवेदन कर सकते हैं। ये विश्वविद्यालय एक समुद्री कानून पाठ्यक्रम प्रदान करते हैं जिसे कानून स्नातकों और वकीलों को शिक्षित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

  • Andhra University
  • NLU
  • Gujarat Maritime University
  • Cochin University of Science and Technology
  • Kerala University of Fisheries and Ocean Studies
  • Bharati Vidyapeeth

Highlights
यह कार्यक्रम 2 वर्षीय स्नातकोत्तर डिग्री प्रदान करता है। उम्मीदवारों को इस विशेष पाठ्यक्रम के लिए आवेदन करने से पहले विस्तार पाठ्यक्रम के बारे में ज्ञान प्राप्त करना चाहिए। यह खंड समुद्री कानून पाठ्यक्रम, पाठ्यक्रमों का स्तर, अवधि, पात्रता मानदंड, परीक्षा प्रकार, शीर्ष भर्तीकर्ता आदि पर प्रकाश डालता है।

Course NameMaritime Law
Course LevelMasters/Post-Graduate
Duration2 years
EligibilityLLB or BA LLB with minimum 50% marks in aggregate from a recognized University
Examination TypeSemester System
Top RecruitersShip Owning Companies, Insurance Companies, Port Authorities, Law Firms
Top Career/Job ProfilesLegal Advisor, Advocate, Legal Counsel, Legal Associate, Legal Assistant Manager

पात्रता (Eligibility)
उम्मीदवारों को पाठ्यक्रम के बारे में एक संक्षिप्त विचार प्राप्त करना चाहिए। विभिन्न कॉलेज समुद्री कानून में स्नातकोत्तर कार्यक्रम प्रदान करते हैं। यहां हम पाठ्यक्रम के नाम, पाठ्यक्रम की अवधि और समुद्री कानून के पाठ्यक्रम की पात्रता मानदंड के बारे में जानते हैं ताकि छात्रों को आसानी से पता चल सके:

Course NameDurationEligibility
Post-Graduate Maritime Law2 yearsPassed the Bachelor’s Law Degree such as BA LLB, LLB or BL from a UGC recognized University.A Bachelors’s degree in Law with a minimum of 50% marks (45% marks in case of SC/ST).

शीर्ष भर्तीकर्ता (Top Recruiters)
छात्रों को उनकी आवश्यकता के अनुसार शीर्ष कंपनियों द्वारा भर्ती किया जाता है। ये शीर्ष भर्ती कंपनियां हैं जो समुद्री कानून के लिए भर्ती करती हैं:

  • Ship Owning Companies
  • Insurance Companies
  • Port Authorities
  • Law Firms

प्रवेश प्रक्रिया (Admission Process)
पाठ्यक्रम में प्रवेश की प्रक्रिया विभिन्न संस्थानों में भिन्न हो सकती है। कुछ संस्थान प्रवेश के लिए अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं, जबकि कुछ किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज / विश्वविद्यालय से स्नातक स्तर पर अपने स्कोर के आधार पर छात्रों का चयन करते हैं।

भारत में अधिकांश कॉलेज/विश्वविद्यालय प्रासंगिक राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा में उम्मीदवार के प्रदर्शन के आधार पर चयन के अपने मानदंड को आधार बनाते हैं।

पाठ्यक्रम (Syllabus)
यह समुद्री कानून का विस्तृत पाठ्यक्रम है:

International Law of the SeaLaw and Social Transformation in India
Maritime Laws and PracticesIndian Maritime Law
Indian Constitutional Law: the New ChallengesJudicial Process
Legal Education and Research MethodologyMaritime Jurisdictions
Maritime safety and securityMaritime businesses & Contracts
Maritime Insurance policies and practicesMaritime environment laws and practices
Employment and seafarer’s rightMaritime disputes settlements

आवश्यक योग्यता (Skills Required)
ये समुद्री कानून पाठ्यक्रम के लिए आवश्यक बुनियादी कौशल हैं।

  • Interest to read
  • Adept at filing statements
  • Should be good at exploiting patents
  • Good communication skill is a must
  • Good at collecting information/ data
  • Good at analysing public policies impacting criminal justice
  • Ability to work in a team
  • Good at reading charts & graphs
  • Critical Thinking
  • Ability to debate
  • Good decision-making skills
  • Leadership skills
  • Ability to manage stress
  • Good observational skills

शीर्ष प्रवेश (Top Entrances)
समुद्री कानून में प्रवेश के लिए कानून से संबंधित प्रवेश परीक्षा के अंकों की आवश्यकता होती है। कुछ कॉलेज या विश्वविद्यालय मेरिट के आधार पर मैरीटाइम लॉ में प्रवेश देते हैं। छात्र इस क्षेत्र में उन लोगों के लिए प्रवेश लेने में सक्षम हो सकते हैं जो परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त कर रहे हैं। यहां कुछ शीर्ष प्रवेश परीक्षाओं की सूची दी गई है:

  • CLAT
  • AILET
  • LSAT
  • MUCLET
  • DU LLB
  • ILICAT
  • IPU CET Law

करियर (Career)
समुद्री कानून में, सफलतापूर्वक पाठ्यक्रम पूरा करने वाले छात्रों के लिए नौकरी के विभिन्न अवसर हैं। इस क्षेत्र में करियर के कई विकल्प हैं। यहां कुछ जॉब प्रोफाइल के मूल विवरण दिए गए हैं जिनमें विवरण के साथ उनकी जॉब प्रोफाइल और विभिन्न पदों का औसत वेतन शामिल है।

Job/Career ProfilesJob DescriptionAverage Salary/Year
Legal Advisor (Maritime Law)Provides advice within a legal jurisdiction to clients on trivial matters, documents, and decisions related to Maritime laws governing one’s business activities.Rs 1.8 – 4 Lakhs
Legal CounselProvides legal counseling and advice on matters pertaining to coastal jurisdiction. They specifically look into conflict areas, disruption of Dry Land laws, prevent litigation and avoid the occurrence of huge losses. Rs 3.6 – 4 Lakhs
Maritime Law AdvocateRepresent parties undertaking proceedings of the arrest of shipping assignments, retrieves compensation, or settles disputes in case of accident, collision, or sinking of vessels.Rs 3 – 4 Lakhs
Legal Assistant ManagerProviding administrative support to a lawyer and enhance office effectiveness. Providing Legal administrative support for trialsRs 3.5 – 6 Lakhs
 Follow Us On Google NewsClick Here
 Facebook PageClick Here
 Youtube ChannelClick Here
 TwitterClick Here
 Website Click Here

Thanks!

Faq
Q: Which is the good college to pursue a degree in Maritime Law?
A: Some of the best colleges are,

  • Andhra University
  • NLU
  • Gujarat Maritime University

Q: What are the skills required to pursue a career in Maritime Law?

A: Persuasive, Convincing, Ability to argue on a topic, Integrity, Intellect are some of the few skills required

Q: What is the duration of the course?
A: The duration of the course is 2 years

Q: What is Maritime Law?
A: Maritime Law course is designed to educate law graduates and lawyers in National and International Maritime Law which allows them to make a contribution to the shipping industry.

Q: What are the job profile associated in this filed?
A: The job profiles associated with this field are as follows:
Legal Advisor (Maritime Law)

  • Maritime Law Advocate
  • Legal Assistant Manager

Q: What are the top Entrances for this course?
A: The top entrances are mentioned below:

  • CLAT
  • AILET
  • LSAT

Q: Do we have a merit-based selection in this stream?
A:The admission process generally varies across the colleges. The admission process for the students is based on the performance in the relevant entrance examination. There are institutes where there is direct admission which is based over the candidate’s performance at the last qualifying exam.

Q: Who are the top recruiters in this field?
A: Some of the top recruiters in this field are as follows:

  • Ship Owning Companies
  • Insurance Companies
  • Port Authorities

Q: What is the minimum qualification for this stream?
A: The minimum qualification is mentioned below:

  • Passed the Bachelor’s Law Degree such as BA LLB, LLB or BL from a UGC recognized University.
  • A Bachelors’s degree in Law with a minimum of 50% marks (45% marks in case of SC/ST).

Q: Does this course have semester exams or yearly exams?
A: This stream has semester exams

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *