March 5, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

लोकसभा चुनाव: बीजेपी ने यूपी की 74 सीटों पर तय किए उम्मीदवारों के नाम, जानिए इस बार कौन कहां से लड़ेगा चुनाव?

बीजेपी चुनावी मोड में आ गई है. सीटों के लिहाज से सबसे बड़े राज्य यूपी की सभी सीटों पर उम्मीदवार लगभग तय हो चुके हैं. छह सीटें ऐसी हैं जिन पर पीएम मोदी ही आखिरी फैसला लेंगे.

लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी की ओर से प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया अब अंतिम चरण में है. यूपी की 80 लोकसभा सीटों में से 6 सीटों पर प्रत्याशी चयन का फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हरी झंडी के बाद होगा. पार्टी के विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक, पार्टी की ओर से कराए गए सर्वे और जातीय संतुलन के आधार पर करीब 74 सीटों पर उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जा चूका है.

गठबंधन में बीजेपी की सहयोगी अपना दल (एस), सुभासपा और निषाद पार्टी को पांच से छह सीटें मिल सकती हैं. इनमें से एक या दो सीटों पर उम्मीदवार सहयोगी दलों के हो सकते हैं और चुनाव चिन्ह बीजेपी का हो सकता है. पहले चरण में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, महासचिव संगठन बीएल संतोष और अन्य केंद्रीय नेताओं के स्तर पर उम्मीदवार चयन की प्रक्रिया चल रही है. इसमें प्रदेश पार्टी के बड़े नेताओं से भी राय ली जा रही है. 17-18 फरवरी को दिल्ली में होने वाली बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद पार्टी उम्मीदवारों की घोषणा की प्रक्रिया शुरू कर सकती है.

इन सीटों पर पीएम फैसला लेंगे
सूत्रों के मुताबिक, मथुरा से सांसद हेमा मालिनी, बरेली से संतोष गंगवार, सुल्तानपुर से मेनका गांधी, गाजियाबाद से सांसद और केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल वी.के. सिंह, पीलीभीत से वरुण गांधी और कानपुर नगर से सांसद सत्यदेव पचौरी की सीटों पर फैसला पीएम मोदी के स्तर पर ही होगा. इनमें से संतोष गंगवार, सत्यदेव पचौरी और अभिनेत्री हेमा मालिनी की उम्र करीब 75 साल हो चुकी है। प्रदेश बीजेपी के नेता मेनका गांधी और वरुण गांधी को टिकट देने के पक्ष में नहीं हैं.

40 फीसदी सांसदों के टिकट कट सकते हैं
पार्टी सूत्रों के मुताबिक प्रदेश में राम लहर में मिशन 80 को पूरा करने के लिए पार्टी हर सीट पर गहन मंथन के बाद उम्मीदवार प्रस्तावित करने की योजना पर काम कर रही है. नया नेतृत्व तैयार करने के लिए मौजूदा सांसदों में से 40 फीसदी तक के टिकट काटे जा सकते हैं. राज्य सरकार के मंत्रियों और पार्टी पदाधिकारियों को चुनाव मैदान में उतारा जाएगा. लोकसभा चुनाव की अधिसूचना जारी होने से पहले पार्टी उम्मीदवारों की पहली सूची आ सकती है.

लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारियों में जुटी भारतीय जनता पार्टी (BJP) में लगातार बैठकों का दौर जारी है। उत्तर प्रदेश के लिए पार्टी ने मिशन 80 का लक्ष्य रखा है जिसको साधने के लिए पार्टी दुवारा तमाम अभियान और सम्मेलन चलाये जा रहे हैं। इन कार्यक्रमों पर पार्टी का शीर्ष नेतृत्व लगातार नज़रें गड़ाए बैठा है। भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक मेँ रणनीति का खुलासा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *