March 1, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

गन्ना मिल कब तक चलेगा 2021?, दिवाली के बाद ही चल पाएगा मवाना मिल का पेराई सत्र

दौराला मिल ने किया छह मार्च तक का गन्ना भुगतान, गन्ना भुगतान कैसे देखें

दौराला मिल ने किया छह मार्च तक का गन्ना भुगतान, गन्ना भुगतान कैसे देखें

गन्ना मिल कब तक चलेगा 2021: – रविवार और सोमवार को दिनभर रुक-रुककर बारिश होती रही। अभी मौसम विभाग ने बारिश की आशंका जताई है। इससे इतना तय है कि मवाना मिल का गन्ना पेराई सत्र 2021 प्रभावित होकर कई दिन पीछे चला जाएगा। मवाना शुगर मिल अफसरों की मानें तो इस वर्ष पेराई सत्र दिवाली के बाद ही मिल चल पाएगा, क्योंकि बारिश का असर दस दिनों तक गन्ने में रहता है और इसका सीधा असर चीनी मिलो पर पड़ता है।

वर्तमान में मौसमी परिस्थितियों में गन्ने की रिकवरी 7:10 से 7:50 प्रतिशत के मध्य में आ रही है। वर्तमान की रिकवरी के हिसाब से न तो गन्ना किसानों को गन्ने का अच्छा मूल्य प्राप्त हो रहा है और न ही इससे खांडसारी इकाइयों को भी कोई अतिरिक्त लाभ प्राप्त मिल रहा है। यदि इन खांड इकाइयों द्वारा अच्छी रिकवरी आने के पहले ही पर्याप्त मात्रा में गन्ने की पेराई कर ली जाती है तो चीनी मिलों को आवंटित होने वाली गन्ने की मात्रा पर भी विपरीत प्रभाव पड़ सकता है।

आपको बता दे कि गन्ना आयुक्त संजय भूसरेड्डी ने चार दिन पहले आदेश जारी किए कि जब तक रिकवरी का प्रतिशत 8.90 ना हो तब तक खांड इकाइयों का चलाया जाना गन्ना किसानों के हित में नहीं है। गन्ना आयुक्त ने गन्ने से रिकवरी 8.90 प्रतिशत नहीं आने तक क्रेशर बंद कराने को कहा है।

मवाना शुगर मिल अफसरों ने बताया कि अभी गन्ना पूरी तरह पका नहीं है। बरसात होने के कारण गन्ने में अभी पानी अधिक है और मीठापन कम। एक कुंतल गन्ने से अभी सात से नौ किलो गुड़ ही बन रहा है। इससे कोल्हू मालिकों को भी नुकसान हो रहा है। कोल्हुओं पर किसानों को 220 रुपये प्रति कुंतल का भाव मिल रहा है। इससे किसानों को 130 रुपये प्रति कुंतल का नुकसान हो रहा है। दो दिन पहले गन्ना रिकवरी 7:10 आई, जबकि पिछले साल इस समय गन्ना रिकवरी आठ फीसदी तक थी।

मवाना शुगर मिल के महाप्रबंधक (गन्ना व प्रशासन) प्रमोद बालियान ने बताया कि इस वर्ष गन्ने की पैदावार 15 प्रतिशत कम है। इससे पेराई सत्र भी प्रभावित होगा। मौसम वैज्ञानिकों ने अब दो दिन की बारिश बताई है, इससे आगामी पेराई सत्र प्रभावित होगा। मिल का पेराई सत्र रिकवरी पर निर्भर है। ज्यादा संभावना यही है कि पेराई सत्र दीपावली के बाद ही शुरू हो पाएगा। जब तक गन्ना रिकवरी नौ प्रतिशत के करीब पहुंच जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें।
  • Web Title: How long will the sugarcane mill run 2021?, the crushing season of Mawana mill will be able to run only after Diwali

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *