March 5, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण ने छोड़ी कांग्रेस पार्टी, इस्तीफे में क्या लिखा?

पूर्व सीएम अशोक चव्हाण

पूर्व सीएम अशोक चव्हाण

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज नेता अशोक चव्हाण ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया. उन्होंने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले को पत्र भेजकर अपने इस्तीफे की घोषणा की.

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज नेता अशोक चव्हाण ने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले को भेजे अपने पत्र में उन्होंने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने की घोषणा की. उन्होंने न सिर्फ कांग्रेस से बल्कि विधानसभा सदस्य पद से भी इस्तीफा दे दिया है. अटकलें हैं कि चव्हाण बीजेपी में शामिल हो सकते हैं.

कांग्रेस से अपने इस्तीफे की जानकारी देते हुए अशोक चव्हाण ने कहा,

नांदेड़ विधायक अशोक चव्हाण ने 11 जनवरी को महाराष्ट्र कांग्रेस प्रभारी रमेश चेन्निथला से मुलाकात की थी. इस दौरान दोनों नेताओं के बीच लंबी बातचीत हुई थी. अशोक चव्हाण 8 दिसंबर 2008 से 9 नवंबर 2010 तक महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे। उनकी गिनती महाराष्ट्र में कांग्रेस के सबसे प्रभावशाली नेताओं में की जाती रही है। उन्हें राजनीतिक विरासत अपने पिता शंकरराव चव्हाण से मिली। वह दो बार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री भी रहे। अशोक चव्हाण 2015 से 2019 तक महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

फड़णवीस ने क्या कहा?
इस पूरे मामले पर राज्य के डिप्टी सीएम और दिग्गज बीजेपी नेता देवेंद्र फड़णवीस का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा,

‘मैंने मीडिया से अशोक चव्हाण के बारे में सुना। लेकिन अभी मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि कांग्रेस के कई अच्छे नेता बीजेपी के संपर्क में हैं. जनता से जुड़े नेता कांग्रेस पार्टी में घुटन महसूस कर रहे हैं। मुझे यकीन है कि कुछ बड़े चेहरे कांग्रेस से बीजेपी में शामिल होंगे. देखते हैं आगे क्या होता है…’

बाबा सिद्दीकी ने दिया इस्तीफा
इससे पहले महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहे बाबा सिद्दीकी ने 8 फरवरी को कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था. वह तीन बार बांद्रा पश्चिम से विधायक रहे हैं। बाबा सिद्दीकी ने करीब पांच दशक बाद पार्टी छोड़ी. बाबा सिद्दीकी ने कांग्रेस पार्टी छोड़ने की घोषणा करते हुए लिखा,

‘मैं किशोरावस्था में ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गया था। 48 वर्षों की महत्वपूर्ण यात्रा के बाद आज मैं कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहा हूं। मैं बहुत कुछ व्यक्त करना चाहता हूं लेकिन कुछ बातें अनकही ही रह जाएं तो बेहतर है। मैं उन सभी को धन्यवाद देता हूं जो इस यात्रा का हिस्सा रहे हैं।

बाबा सिद्दीकी उपमुख्यमंत्री अजीत पवार के नेतृत्व वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) में शामिल हो गए थे। इसी साल जनवरी में वरिष्ठ नेता मिलिंद देवड़ा ने भी कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था. इस इस्तीफे के साथ ही उनका और उनके परिवार का कांग्रेस से 55 साल पुराना रिश्ता खत्म हो गया. वह एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली ‘असली’ शिवसेना में शामिल हो गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *