March 2, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

2024 के लिए यूपी में BJP ने बनादि नई टीम, देख लीजिए पूरी लिस्ट, समीकरण समझ जाएंगे

2024 के लिए यूपी में BJP ने बनाई नई टीम

2024 के लिए यूपी में BJP ने बनाई नई टीम

अगले एक साल यानि 24 में देश में लोकसभा का बड़ा चुनाव होना है. उससे पहले अगले 3 महीने में यूपी में स्थानीय निकाय के चुनाव के तौर पर लोकसभा का सेमीफाइनल भी हो ही जाएगा. केंद्र में अपनी सरकार बनाने के लिए किसी को भी यूपी को जीतना ज़रूरी होता है. क्योंकि अकेले यूपी में लोकसभा की 80 सीटें हैं. ऐसे में बीजेपी ने 2024 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए प्रदेश पदाधिकारियों की एक बड़ी टीम की घोषणा कर दी है. इस टीम में कुल 51 पदाधिकारियों के नामों की शनिवार, 25 मार्च की देर शाम घोषणा हुई.

एक संतुलित टीम बनाने की भरपूर कोशिश

यूपी BJP की प्रदेश टीम में 45 प्रदेश पदाधिकारियों के अलावा 6 क्षेत्रों के क्षेत्रीय अध्यक्षों के नामों की भी घोषणा कर दी गई है. इस लिस्ट में 25 प्रतिशत महिलाएं शामिल हैं तो अगड़े, पिछड़े और दलितों का प्रतिनिधित्व साधकर एक संतुलित टीम बनाने की भरपूर कोशिश होती दिखाई दे रही है. यूपी BJP के अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी की टीम में सभी पदाधिकारी हिंदू धर्म के अनुयायी हैं. किसी मुस्लिम या अन्य धर्म से आने वाले किसी भी नेता को इस नई टीम में कोई जगह नहीं दी गई है.

BJP के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी की टीम में जातिगत समीकरण का खास खयाल रखा गया है. यूपी BJP की नई टीम में 10 ब्राह्मण, 10 ओबीसी, 9 अनुसूचित जाति, 7 राजपूत सहित अन्य जातियों का प्रतिनिधित्व रखा गया है. ब्राह्मणों में 4 उपाध्यक्ष, 1 महामंत्री, 3 मंत्री, 1 मुख्यालय प्रभारी और 1 क्षेत्रीय अध्यक्ष शामिल हैं. इसी तरह 9 पदाधिकारी दलित वर्ग से आते हैं. ओबीसी समाज से आने वाले 10 नेताओं को प्रदेश टीम में जगह मिली है, जिसमें 1 यादव समाज से, 2 मौर्या समाज और 1 लोधी समाज से भी शामिल हैं. खुद प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी और प्रदेश महामंत्री (संगठन) धर्मपाल दोनों पिछड़े वर्ग से आते हैं.

PM मोदी के संसदीय क्षेत्र में भी बड़ा बदलाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में BJP ने बड़ा बदलाव किया है. काशी क्षेत्र के अध्यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्तव और प्रभारी महामंत्री सुब्रत पाठक को प्रदेश टीम से हटाया गया है. कन्नौज से सांसद सुब्रत पाठक काशी क्षेत्र के प्रभारी थे, लेकिन उन्हें प्रदेश टीम में जगह नहीं दी गई है. माना जा रहा है कि कन्नौज जैसी महत्वपूर्ण सीट पर 2024 में फोकस करने के लिए सुब्रत पाठक को संगठन की जिम्मेदारी से दूर रखा गया है.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की संसद सदस्यता खत्म होने के तुरंत बाद घोषित BJP की प्रदेश टीम में एक नाम बहुत खास है. ये नाम है पूर्व मंत्री सुरेश पासी का, जो राहुल गांधी की सीट रही अमेठी से आते हैं. राहुल गांधी 2019 में अमेठी से स्मृति ईरानी से चुनाव हार गए थे. ऐसे में योगी सरकार के पहले कार्यकाल में मंत्री रहे सुरेश पासी को प्रदेश टीम में रखा गया है. पासी को योगी के दूसरे कार्यकाल में मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया था. दलितों में पासी समाज से आने वाले सुरेश पासी को अब संगठन में लाया गया है. 2024 के लोकसभा चुनाव में अमेठी सीट के महत्व को देखते हुए पासी का प्रदेश टीम में आना रणनीति का हिस्सा मालूम सा पड़ता है.

उत्तर प्रदेश को संगठन के लिहाज से BJP ने 6 क्षेत्रों में बांटा है. 6 में से एक क्षेत्रीय अध्यक्ष के निधन के बाद जो 5 क्षेत्रीय अध्यक्ष पिछली टीम में थे, उनमें BJP ने 3 क्षेत्रीय अध्यक्षों को उपाध्यक्ष बना दिया है. कानपुर से मानवेन्द्र सिंह, पश्चिम क्षेत्र मोहित बेनीवाल और गोरखपुर से धर्मेंद्र सिंह को प्रमोट किया गया है. इनके अलावा 2 प्रदेश मंत्रियों को उपाध्यक्ष और 2 प्रदेश मंत्री को संगठन में महामंत्री की जिम्मेदारी दी गई है. प्रदेश संगठन में 7 ऐसे चेहरे हैं, जो पहली बार प्रदेश टीम में शामिल किए गए हैं.

टीम में इन्हें भी दी गई जगह

यूपी BJP की टीम में कई ऐसे चेहरे भी हैं, जो या तो वर्तमान में जनप्रतिनिधि हैं या पहले कभी रह चुके हैं. इसमें नोएडा से विधायक पंकज सिंह, राज्यसभा सांसद कांटा कर्दम, विधायक सलिल विश्नोई, MLC विजय बहादुर पाठक, सांसद सुरेंद्र नागर, पूर्व सांसद नीलम सोनकर, MLC धर्मेंद्र सिंह, MLC गोविंद नारायण शुक्ला, MLC अनूप गुप्ता, MLC सुभाष यदुवंशी, विधायक सुरेश पासी, पूर्व सांसद प्रियंका रावत और पूर्व मेयर अंजुला माहौर शामिल हैं.

BJP की प्रदेश पदाधिकारियों की टीम की घोषणा के बाद अब इंतज़ार है प्रदेश के सभी मोर्चा, विभाग, प्रकोष्ठ और प्रवक्ताओं की लिस्ट का. अगले 2 से 3 महीने में यूपी में स्थानीय निकाय चुनाव हो सकते हैं. इसके तुरंत बाद लोकसभा चुनाव की तैयारियां तेज हो जाएंगी. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि BJP जल्द मोर्चा, प्रकोष्ठ, विभागों के साथ-साथ प्रवक्ताओं और टीवी पैनलिस्ट्स की लिस्ट जारी करेगी. पार्टी की कोशिश होगी कि जल्दी नाम घोषित करके पदाधिकारियों को साल भर बाद होने वाले सबसे बड़े चुनाव की रणनीति में बेहतर प्रदर्शन करने का मौका दिया जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *