March 1, 2024

NEWSZON

खबरों का digital अड्डा

Akash Anand: आकाश आनंद ने पश्चिमी यूपी से राजनीति में कदम रखा था, देवबंद में पहली बार अपनी बुआ के साथ मंच साझा किया

Akash Anand

Akash Anand

लखनऊ में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने भतीजे आकाश आनंद (Akash Anand) को अपना उत्तराधिकारी घोषित किया और अपनी राजनीतिक विरासत सौंपी। आकाश ने वेस्ट यूपी से राजनीति में कदम रखा था.

बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) की राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने अपने भतीजे आकाश आनंद को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया है. रविवार को पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में हुई वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक में उन्होंने यह घोषणा की. हालांकि, उन्होंने आकाश को उन राज्यों में संगठन को मजबूत करने की जिम्मेदारी सौंपी है, जहां पार्टी संगठन कमजोर है। यूपी और उत्तराखंड में संगठन को मजबूत करने की जिम्मेदारी बसपा सुप्रीमो खुद संभालेंगी.

आपको बता दें कि आकाश आनंद मायावती के छोटे भाई आनंद कुमार के बेटे हैं. शुरुआती पढ़ाई गुरुग्राम से करने के बाद आकाश ने 2013 से 2016 के बीच लंदन से एमबीए की पढ़ाई की. वापस आकर उन्होंने कुछ कंपनियां भी खोलीं. हालाँकि फिर उन्होंने राजनीति में आने का फैसला किया। आकाश आनंद ने पहली बार पश्चिमी उत्तर प्रदेश की धरती से राजनीति में कदम रखा था.

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के देवबंद में आयोजित रैली में पहली बार मायावती ने आकाश आनंद को अपने साथ मंच पर बैठाया और पार्टी कैडर को संदेश दिया कि भविष्य में आकाश बसपा संगठन में अहम भूमिका निभाने वाले हैं. वहीं, साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में आकाश को स्टार प्रचारक बनाया गया था. उन्हें युवाओं को पार्टी से जोड़ने की जिम्मेदारी भी दी गई थी.

पिछले साल मार्च में मायावती ने आकाश को पार्टी का राष्ट्रीय समन्वयक बनाकर सभी को चौंका दिया था. आपको बता दें कि आकाश की शादी मार्च महीने में पार्टी के पूर्व राज्यसभा सांसद अशोक सिद्धार्थ की बेटी डॉ. प्रज्ञा से हुई थी.
आकाश 2019 में सहारनपुर में गठबंधन की चुनावी बैठक में शामिल हुए थे.

2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान देवबंद में हुई गठबंधन रैली में आकाश आनंद ने अपनी बुआ के साथ पहली बार राजनीतिक मंच पर कदम रखा था. यहां उन्होंने मायावती, अखिलेश यादव, चौधरी अजित सिंह और जयंत चौधरी के साथ मंच साझा किया.

इसके बाद से ही पार्टी में अटकलें शुरू हो गई थीं कि आकाश आनंद ही मायावती के उत्तराधिकारी होंगे. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी बसपा नेता आकाश आनंद को अपना उत्तराधिकारी बनाए जाने से खुश हैं. जिलाध्यक्ष जनेश्वर प्रसाद का कहना है कि वह पूरी तरह से पार्टी और बहन के साथ हैं. उनका मानना है कि युवा आकाश आनंद अपनी बहन के साथ पार्टी को जरूर मजबूत करेंगे.

आकाश आनंद की प्रोफ़ाइल एक नज़र में

  • साल 1995 में नोएडा में जन्मे आकाश आनंद ने अपनी स्कूली शिक्षा नोएडा और गुरुग्राम से प्राप्त की।
  • साल 2013 से 2016 के दौरान यूनिवर्सिटी ऑफ प्लायमाउथ, लंदन से एमबीए किया।
    वापस आकर उन्होंने अपना खुद का व्यवसाय शुरू किया और अपने पिता का व्यवसाय भी संभाला।
  • आकाश आनंद पांच कंपनियों से जुड़े बताए जाते हैं, जिनका नेटवर्क करोड़ों रुपए का है।
  • साल 2016 में आकाश आनंद ने सक्रिय राजनीति में आने का फैसला किया था।
  • आकाश आनंद के एक्स पर 184 लाख और फेसबुक पर 53 हजार फॉलोअर्स हैं।
  • उनकी शादी बीएसपी के पूर्व राज्यसभा सांसद अशोक सिद्धार्थ की बेटी डॉ. प्रज्ञा से हुई है।
Follow Us On Google NewsClick Here
 Facebook PageClick Here
 Youtube ChannelClick Here
 TwitterClick Here
 Website Click Here
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें।
  • Web Title: Akash Anand: Akash Anand entered politics from western UP, sharing the stage with his aunt for the first time in Deoband.

Thanks!

Read Also :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *